DIP diet for thyroid in hindi | थयरॉइड के लिए डी. आई. पी. डाइट

थायरॉइड से ग्रसित लोगों के लिए यह डाइट ‘DIP diet for thyroid” वरदान की तरह है. इस डाइट से आप thyroid Disease को 2 महीने में ठीक कर सकते है. जी हाँ आपने सही पढ़ा, आप अपनी दवा को हमेशा के लिए बन्द कर सकेंगे. तो चलिए आज का आर्टिकल शुरू करते है.

Contents show

थायरॉइड (Thyroid in Hindi)

सबसे पहले हमे यह समझना होगा कि Thyroid क्या है? इसको समझने के बाद इसे cure करने में आपको सहायता मिलेगी. यह एक ग्रंथि है जो हमरे गर्दन के मुख्य श्वास नली के चारों ओर लिपटी रहती है. इसका आकार कुछ butterfly के आकर सा होता है. थायरॉइड ग्रंथि के दो पिण्ड होते है, जो एक श्वास नली के दायी और एक बायीं ओर स्थित होता है.

थायरॉइड ग्रंथि से दो तरह के हॉर्मोन्स स्रावित होते रहते है. एक को हम थायरॉक्सिन और दूसरे को ट्राईआईडोथायरानिन कहते है. इन्ही हॉर्मोंस की रक्त में उपस्तिथि की मात्रा हमारे Metabolisim (चयापचय) की गति निर्धारित करते है.

इन हॉर्मोस का संश्लेषण के लिए आयोडीन नामक पदार्थ की आवश्यकता होती है. जब आयोडीन की कमी हो जाती है, तब थायरॉइड ग्रंथि का आकार बढ़ने लगता है. यहीं से थायरॉइड रोग की शुरुआत होने लगती है. थायरॉइड रोग दो प्रकार के होते है-

1- हाइपर-थाइरॉडिज्म (Hyper-thyroidism in Hindi)

जब Thyroid Gland द्वारा हॉर्मोस का स्रवण अत्यधिक मात्रा में होने लगता है. तो इस स्थिति को हाइपर-थाइरॉडिज्म Hyperthyroidism कहते है. इसमें थायरॉइड अधिक मात्रा में हार्मोन बनाते है. पर इनका संश्लेषण बहुत कम हो पता है.

हाइपर-थाइरॉडिज्म होने के कारण (Hyperthyroidism Condition in Hindi)

इसका सबसे मुख्य प्रकारान्तर ‘ग्रेव्स डिसीज’ (Graves disease) है. यह रोग पुरुषो की अपेक्षा महिलाओं में अधिक पाया जाता है. जिनकी उम्र लगभग 30 से 50 के बीच होती है. इस रोग में Metabolism की प्रक्रिया अत्यधिक बढ़ जाती है. जिसके कारण सभी तंत्रों पर असर पड़ता है.

और पढ़े: डायबिटीज के लिए DIP Diet in Hindi

हाइपर-थाइरॉडिज्म के लक्षण (Symptoms of Hyperthyroidism in Hindi)

Hyperthyroidism में निम्न प्रकार के लक्षण दिखाई या प्रतीत होते है-

  • ऊर्जा का क्षय अधिक होता है.
  • भूख ज्यादा लगती है.
  • इसमें व्यक्ति ज्यादा खाने के बावजूद का दुबला होता जाता है. साथ में वजन भी घटता है.
  • हाथ और पैर का कापते रहते है.
  • मानसिक अस्थिरता, क्रोध, चिड़चिड़ापन एवं उद्विग्नता बना रहता है.
  • हिस्टीरिया या विक्षिप्तता के दौरे पड़ना.
  • इसमें ह्रदय की धड़कन एवं नाड़ी की गति का बढ़ी होती है, श्वास उथली और तेज रहती है.
  • व्यक्ति को दस्त आना, असहनीय गर्मी का लगना, अत्यधिक पसीना आना.
  • इसमें मासिक धर्म अनियमित हो जाती है.
  • व्यक्ति की ऑंखें का बाहर उभरी हुई प्रतीत होती है.
  • थकान एवं शक्तिहीनता प्रतीत होने के बावजूद भी चलने-फिरने बात करने या काम करने को विवश होना.
  • इसमें व्यक्ति हमेशा कुड़बुड़ाते रहते है.
  • व्यक्ति छोटी सी छोटी बातों पर हंगामा खड़ा कर देते है.
  • अपने को विरोधभासी परिस्थिति में पाना आदि लक्षण पाए जाते है.

और पढ़े: थायराइड के लक्षण व कारण

2- हाइपो-थाइरॉडिज्म (Hypothyroidism in Hindi)

जब थायरॉइड ग्रंथि हारमोन्स बनाने की प्रक्रिया को कम कर देती है. जिससे हारमोन्स का संश्लेषण अल्प या अनुपस्थित हो जाता है. इस अवस्था को हाइपो-थाइरॉडिज्म कहते है. इस हारमोन्स मंदता को वयस्कों में ‘मिक्सिडिमा’ कहते है. किसी किसी को यह समस्या जन्म के समय से ही होती है, इसे क्रेटिनिज्म कहते है.

हाइपो-थाइरॉडिज्म के कारण (Hypothyroidism Condition in Hindi)

इसका सबसे प्रमुख कारण है Opration द्वारा या रेडियोधर्मी आयोडीन द्वारा, थायरॉइड ग्रंथि का विनाश करना. कभी कभी यह रोग बिना किसी प्रत्यक्ष कारण के भी हो जाता है. लेकिन ऐसा बहुत कम होता है.

हाइपो-थाइरॉडिज्म के लक्षण (Hypothyroidism Symptoms in Hindi)

Hypothyroidism में निम्न प्रकार के लक्षण दिखाई या प्रतीत होते है-

  • इसमें व्यकित को कमजोरी, सुस्ती, एवं भावशून्यता के कारण अपना ही भान नहीं होता है.
  • मानसिक एवं शारीरिक क्रियाओं का धीमापन होना.
  • कब्ज, थकावट, एवं पेशीय दर्द का होना.
  • भूख का न लगना, कम खाने के बावजूद वजन में वृद्धि होना.
  • शरीर में सूजन (Thyroid Swelling) का होना जो दबाने से दबती ना हो.
  • व्यक्ति की त्वचा सुखी हो जाती है, बाल कड़े हो जाते है एवं आवाज में भारीपन आ जाती है.
  • स्मृतिक्षीणता एवं मासिक धर्म की अनियमिता का होना आदि प्रमुख लक्षण होते है.

और पढ़े: ब्लैक फंगस से कैसे बचे ?

थयरॉइड के लिए डी. आई. पी. डाइट (DIP diet for thyroid in hindi)

Credit – DIP diet for thyroid में प्रदान जानकारी Dr. Biswaroop Roy Chowdhury ने Design किया है। और इसे हम मुनष्य की सहायता और स्वास्थ्य लाभ हेतु, सरल भाषा में पुनः दे रहे है।

चेतावनी- इस डाइटमें प्रदान की गई जानकारी केवल संदर्भ के लिए है। कृपया इस Diet Plan को शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

अगर किसी को थयरॉइड के साथ शुगर की भी समस्या है तो इस डाइट को सावधानी पूर्वक करनी चाहिए. यह डाइट बहुत ही शक्तिशाली है। इसमें आपका शुगर लेवल और रक्तचाप का स्तर तेजी से नीचे जा सकती हैं। अतः एक चिकित्सा विशेषज्ञ की देखरेख में इस आहार को लेने की सलाह दी जाती है।

Thyroid Dip Diet Plan इस प्रकार से है-

Step 1 सुबह खाली पेट (Morning empty stomach)

सुबह खली के पेट 2 चम्मच Lemon Juice में 2 चम्मच शहद मिलाकर पिना है.

Step 2 सुबह का नास्ता (Morning Breakfast in Thyroid Diet)

12 बजे तक आपको केवल 3 से 4 प्रकार के फल खाने है जैसे – आम, अंगूर, केला आदि।

फल खाने की न्यूनतम मात्रा –

Your Body Weight in kg × 10 = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 x 10 = 600gms फल आपको 12 बजे से पहले खा लेने है।

Step 3 दोपहर का लंच (Lunch in Thyroid Diet)

Lunch में गाजर, टमाटर, मूली और खीरा जैसी कम से कम 4 तरह की कच्ची सब्जियां खानी है.

कच्ची सब्जियाँ खाने की न्यूनतम मात्रा –

Your Body Weight in kg × 5 = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 x 5 = 300gms कच्ची सब्जियाँ खानी है।

Step 4 रात का डिनर (Dinner in Thyroid Diet)

आपको रात का डिनर हमेसा 2 प्लेट (Plate 1 & Plate 2) में खाना है। इसका मतलब यह है कि पहले आपको Plate 1 खत्म करना है फिर Plate 2 खाना है।

Plate 1 : आपके Plate 1 में गाजर, टमाटर, मूली और खीरा जैसी कम से कम 4 तरह की सब्जियां होनी चाहिए, जिन्हें आप कच्चा खा सकते हो।

कच्ची सब्जियाँ खाने की न्यूनतम मात्रा –

Your Body Weight in kg × 5 = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 x 5 = 300gms कच्ची सब्जियाँ खानी है।

Plate 2 : इसमें आपको घर का बना शाकाहारी भोजन जिसमें न के बराबर नमक और तेल हो खाना है। बात फिर आती है कि कितना खाना है ? तो इसका जबाब है आप जितना खा सकते है उतना खाइए। रात का डिनर शाम 7 बजे तक खत्म करने का प्रयास करना चाहिए।

Thyroid Dip Diet Plan में ध्यान रखने योग्य बातें

  • आपको जानवरो से प्राप्त होने वाले खाद्य पदार्थ (जैसे- मांस, मछली,अंडा आदि) नहीं खाना है।
  • डेरी प्रोडक्स (जैसे- दूध, दही आदि) को नहीं खाना है।
  • Multivitamin tonic and Capsules को Avoid करनी चाहिए।
  • Factry से निकले वाले प्रोडक्स, डिब्बा बंद प्रोडक्स, Refined आदि को नहीं खाना है।
  • अपने शरीर को रोजाना कम से कम 40 मिनट धूप में रखने की कोशिश करें।

इसके आलावा Dip Diet for thyroid में नाश्ते और पेय पदार्थों के भी विकल्प होते हैं। जो इस प्रकार है –

और पढ़े: Cell Kya Hai कोशिका की संरचना कैसे होती है?

1. अंकुरित (Eat Sprouts)

आप 3 मुख्य खाने (नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाने) के आलावा अंकुरित भी खा सकते है।

अंकुरित की मात्रा –

अंकुरित – Your Body Weight in Kg = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 = 600gms तक अंकुरित (Sprouts) एक दिन में खा सकते है।

2. मेवा (Nuts)

इसमें आप सभी प्रकार के मेवे (बादाम, काजू, अखरोट आदि ) को २-३ घंटे पानी में भिगोकर रखने के बाद खा सकते है।

Nuts की मात्रा-

All Kinds of Nuts – Your Body Weight in Kg = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 = 600gms तक मेवा (Nuts) एक दिन में खा सकते है।

3. नाश्ते के रूप में आप Fruits खा सकते है।

4. Fresh नारियल पानी और Coconut क्रीम का सेवन कर सकते है।

5. Hunza Tea पी सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.