Joint Pain DIP Diet in Hindi | Dip Diet plan for Joint Pain

दोस्तों आज का लेख Joint Pain DIP Diet in Hindi के बारे में है। इस DIP Diet के इस्तेमाल से आप Joint Pain को बहुत ही आसानी से Cure कर सकते है। इस डाइट प्लान को अगर आप फॉलो करते है। तो Joint Pain को लगभग 46 सप्ताह में Cure कर सकते है। तो चलिए इस डाइट प्लान को शुरू करते है।

Credit – Joint Pain DIP Diet in Hindi में प्रदान जानकारी Dr. Biswaroop Roy Chowdhury ने Design किया है। और इसे हम मुनष्य की सहायता और स्वास्थ्य लाभ हेतु, सरल भाषा में पुनः दे रहे है।

चेतावनी- इस डाइट चार्ट में प्रदान की गई जानकारी केवल संदर्भ के लिए है। कृपया इस Joint Pain DIP Diet in Hindi को शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

Contents show

जोड़ों का दर्द क्या है? What is Joint Pain in Hindi

Joint Pain शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है। जैसे – घुटने, कंधे, गर्दन, कोहनी और कूल्हे आदि। जोड़ों का दर्द आमतौर पर अस्थायी होता है और अपने आप कम हो जाता है। लेकिन कभी कभी यह असहनीय हो जाता है। अगर Joint Pain तनाव, मोच, गठिया, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस, बर्साइटिस, संधिशोथ, जोड़ों में कैंसर के कारण होता है। तो इसका उपचार करना आवश्यकता हो जाती है।

जोड़ों का दर्द के लक्षण क्या हैं? Joint Pain Symptoms in Hindi

Joint Pain के सामान्य लक्षण निम्न प्रकार के होते हैं:

  • घुटने, कंधे, गर्दन, कोहनी और कूल्हे आदि में गंभीर या मध्यम दर्द का होना।
  • जोड़ो का असमान्य रूप से अकड़ जाना गतिहीनता का होना।
  • Joint में सूजन का होना।
  • जोड़ो की कोमलता
  • Joint में गर्मी लगना।
  • जोड़ो में विकृति का होना आदि।

जोड़ों का दर्द के क्या कारण है? Joint Pain Causes in Hindi

Joint में दर्द का होना अक्सर समान्य कारणों से होता है। समान्य दर्द अपने आप ठीक भी हो जाते है। लेकिन जोड़ों का दर्द कई चिकित्सा स्थितियों के परिणामस्वरूप भी हो सकता है। जोड़ों के दर्द के सबसे सामान्य कारण निम्न हैं:

Osteoarthritis (ऑस्टियोआर्थराइटिस)

इसमें आमतौर पर हाथों, घुटनों, कलाई और कूल्हों के जोड़ों को प्रभावित होते है। Osteoarthritis आमतौर पर 40 साल से अधिक उम्र के लोगों को प्रभावित करती है और उम्र के साथ जोखिम बढ़ता रहता है।

Rheumatoid Arthritis (रूमेटाइड अर्थराइटिस)

इसमें आमतौर पर कलाई और उँगलियों के जोड़ प्रभावित होते है। Rheumatoid Arthritis में जोड़ों में सूजन, सूजन और दर्द के साथ कलाई और उँगलियों में विकृति होने लगती है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को Rheumatoid Arthritis का अधिक खतरा होता है।

Gout (गाउट)

Gout गठिया का ही एक प्रकार है। जिसके कारण जोड़ों में अचानक गंभीर दर्द, सूजन और लालिमा उत्पन्न होने लगता है। Gout तब होता है जब रक्त में यूरिक एसिड का स्तर काफी बढ़ जाता है। यह आमतौर पर पैर की उँगलियों को प्रभावित करता है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों में गाउट का अधिक खतरा होता है। लेकिन रजोनिवृत्ति के बाद महिलाओं में गाउट का खतरा काफी बढ़ जाता है।

Tendinitis (टेंडिनिटिस)

Tendinitis आमतौर पर घुटने, कलाई, कंधे, कोहनी और एड़ी को प्रभावित करता है। हड्डियों और मांसपेशियों को जोड़ने वाले रेशेदार संयोजी ऊतक में सूजन के कारण टेंडिनिटिस की स्थिति उत्पन्न होती है।

Bursitis (बर्साइटिस)

यह जोड़ों के आसपास तरल पदार्थ से भरा थैली (बर्से ) में सूजन के कारण होता है। बर्साइटिस काफी पीड़ादायक स्थिति होता है। इसमें कंधे, कूल्हे, घुटने और कोहनी आमतौर पर बर्साइटिस से प्रभावित होते हैं।

Injury (चोट)

जोड़ों में दर्द चोट के कारण भी हो सकता है। जैसे- टूटी हुई हड्डी, मोच, लिगामेंट्स का टूटना आदि।

Joint Pain (जोड़ों का दर्द) के कई अन्य कारण भी होते है जैसे –

  • एडल्ट-ऑनसेट स्टिल की बीमारी
  • रीढ़ के जोड़ों में गतिविधि
  • Psoriatic Arthritis (सोरियाटिक गठिया)
  • Reactive Arthritis (प्रतिक्रियाशील गठिया)
  • Rheumatic Fever (रूमेटिक फीवर)
  • Leukemia (ल्युकेमिया)
  • एवास्क्यूलर नेक्रोसिस
  • बच्चों में गठिया के कारण

और पढ़े: Spondylosis DIP Diet in Hindi

Joint Pain का डी आई पी डाइट – Joint Pain DIP Diet in Hindi

Step 1: Oil Massage in Joint Pain

50ml तिल (Sesame Oil) के तेल में 6 कुटी हुई लहसुन की कलियां डालकर 15 मिनट तक उबालें।

उबलने के बाद तेल (जब तेल गर्म हो) को प्रभावित जगह पर लगाए।

फिर धीरे धीरे 10 से 15 मिनट तक मालिश करे। ऐसा दिन में 2 से 3 बार करना है।

Step 2: सुबह का नास्ता – Breakfast in Joint Pain Diet in Hindi

12 बजे तक आपको केवल 3 से 4 प्रकार के फल खाने है जैसे – आम, अंगूर, केला आदि।

फल खाने की न्यूनतम मात्रा – Your Body Weight in kg × 10 = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 x 10 = 600gms फल आपको 12 बजे से पहले खा लेने है।

Step 3: दोपहर का लंच – Lunch in Joint Pain Diet Plan in Hindi

आपको लंच हमेसा 2 प्लेट (Plate 1 & Plate 2) में खाना है। पहले आपको Plate 1 खत्म करना है फिर Plate 2 खाना है।

Plate 1 : आपके Plate 1 में गाजर, टमाटर, मूली और खीरा जैसी कम से कम 4 तरह की सब्जियां होनी चाहिए, जिन्हें आप कच्चा खा सकते हो।

कच्ची सब्जियाँ खाने की न्यूनतम मात्रा – Your Body Weight in kg × 5 = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है।

तो 60 x 5 = 300gms कच्ची सब्जियाँ खानी है।

Plate 2 : इसमें आपको घर का बना शाकाहारी भोजन जिसमें न के बराबर नमक और तेल हो खाना है। जितना खा सकते है उतना खाइए।

बस हमें यह याद रखना चाहिए कि शाम 7 बजे तक रात का खाना खत्म करने का प्रयास करना चाहिए।

Step 4: रात का डिनर – Dinner in Joint Pain Diet Plan in Hindi

आपको रात का डिनर भी हमेसा 2 प्लेट (Plate 1 & Plate 2) में खाना है। पहले आपको Plate 1 खत्म करना है फिर Plate 2 खाना है।

Step 3 के नियम को दोहराए, मतलब जैसे Step 3 में खाने का नियम है वैसे है रात का डिनर में फॉलो करें।

और पढ़े: Parkinson Disease DIP Diet

Joint Pain DIP Diet में ध्यान रखने योग्य बातें

  • आपको जानवरो से प्राप्त होने वाले खाद्य पदार्थ (जैसे- मांस, मछली,अंडा आदि) नहीं खाना है।
  • डेरी प्रोडक्स (जैसे- दूध, दही आदि) को नहीं खाना है।
  • Multivitamin Tonic and Capsules को Avoid करनी चाहिए।
  • Factry से निकले वाले प्रोडक्स, डिब्बा बंद प्रोडक्स, Refined आदि को नहीं खाना है।
  • अपने शरीर को रोजाना कम से कम 40 मिनट धूप में रखने की कोशिश करें।

और पढ़े: Brain Disorder DIP Diet in Hindi

Joint Pain Diet Chart में लंच और डिनर के अलावा नाश्ते और पेय पदार्थों के भी विकल्प होते हैं। जो इस प्रकार है –

1. अंकुरित (Sprouts) in Joint Pain DIP Diet

आप मुख्य खाने (नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाने) के आलावा अंकुरित भी खा सकते है।

अंकुरित – Your Body Weight in Kg = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है। तो 60 = 600gms तक अंकुरित (Sprouts) एक दिन में खा सकते है।

और पढ़े: DIP Diet for Obesity

2. मेवा (Nuts) for Joint Pain Diet

इसमें आप सभी प्रकार के मेवे (बादाम, काजू, अखरोट आदि ) को २-३ घंटे पानी में भिगोकर रखने के बाद खा सकते है।

All Kinds of Nuts – Your Body Weight in Kg = …gms

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपका वजन 60 Kg है।

तो 60 = 600gms तक मेवा (Nuts) एक दिन में खा सकते है।

और पढ़े: DIP Diet for Thyroid

3. नाश्ते के रूप में आप फल खा सकते है।

4. ताजा नारियल पानी और नारियल क्रीम का सेवन कर सकते है।

5. Hunza Tea पी सकते है।

 

और पढ़े: Dip Diet for Diabetes

निष्‍कर्ष – Conclusion

दोस्तों आशा है कि इस लेख के माध्‍यम से आपको Joint Pain को Cure करने में मदद मिलेगी।

यदि यह जानकारी आपको अच्‍छी लगी हो तो कृपया अपनी प्रतिक्रिया Comment Box में जरूर दें।

इस जानकारी को अपने मित्रों और परिवार वालों के साथ जरूर Share करें। ताकि उनको भी फायदा मिल सके।

धन्यबाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published.