Kodo Millet Benefits | Health Benefits of Kodo Millet

दोस्तों आज का लेख “Kodo Millet” के बारे में है। इस लेख में आप जान पाएंगे कि इसमें कौन कौन से पोषक तत्व (Kodo Millet Nutritional Value) होते है। Kodo Millet के फायदे (Kodo Millet Benefits in Hindi) और उपयोग (Use of Kodo Millet in Hindi) क्या है? Kodo Millet के नुकसान (Side Effects of Kodo Millet) क्या है? तो चलिए शुरू करते है।

Contents show

Kodo (कोद्रव) क्या है? – What is Kodo in Hindi

कोदो को कोद्रव (Varagu Arisi Benefits) भी कहते हैं। Kodo का पौधा 60-90cm तक ऊँचा और सीधा होता है। यह धान के पौधे जैसा होता है। कोदो के बीज चमकीले, गहरे बैंगनी रंग के होते है। यह बीज सरसो के समान छोटे, सफेद और गोल होते हैं। कोदो स्वाद में मीठा, कड़वा और तीखा होता है।

बहुत से कम कोगो को यह बात पता है कि Kodo एक बहुत ही गुणी औषधि है। Kodo (कोद्रव) से कई रोगों का इलाज किया जा सकता है। जैसे- घेघा रोग, रूसी की समस्या, पेट से संबंधित बीमारी और बवासीर आदि में Kodo (कोद्रव) से लाभ (Health Benefits of Kodo Millet) मिलता है।

आप मल-मूत्र विकार, कफ-पित्त दोष, में कोदो से लाभ (Kodo Millet Health Benefits) ले सकते हैं। इस लेख में आगे हम विस्तार से जानेगे कि Kodo (कोद्रव) से और क्या-2 फायदे (Kodo Ke fayde) होते हैं। अभी हम जानते है कि अन्य भाषओं में Kodo को और क्या कहते है।

अन्य भाषाओं में कोदो के नाम – Kodo Name in Different Languages

Kodo का वानस्पतिक नाम Paspalum scrobiculatum Linn. है। भारत में मुख्य तौर इसे Kodo (कोदव) के नाम से जाना जाता है। भारत के अन्य भाषाओं और क्षेत्रों में इसका नाम इस प्रकार है-

  • Sanskrit : कोद्रव, कोरदूष, उद्दाल
  • Hindi : कोद्रा, कोदो धान, कोदव, कोदो
  • English : राइस ग्रास (Rice grass), नेटिव मिलैट (Native millet), Kodo millet (कोदो मिलेट)
  • Oriya : कोदस (Kodus)
  • Urdu : कोदों (Kodon)
  • Kannada : हरिका(Harika)
  • Gujarati : कोदरा (Kodra), मेन्या (Menya)
  • Tamil : वरागु (Varagu), वराकु (Varaku)
  • Telugu : अरिकलु (Arikalu), कीरारूगा (Kiraruga)
  • Bengali : कोदोआधान (Kodoadhan)
  • Nepali : जनै घास (Jnai Ghaas)
  • Punjabi : कोदोन (Kodon), कोद्रा (Kodra)
  • Marathi : कोद्र (Kodra), हारिक (Harik), कोद्रु (Kodru)
  • Malayalam : वराकु (Varaku)
  • Arabic : कोद्रु (Kodru)
  • Persian : कोदिरम (Kodiram)

आगे हम जानेगे कि कोदो में क्या क्या पोषक तत्व (Kodo Millet Nutritional Value in Hindi ) पाए जाते है।

कोदो मिलेट में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व – Kodo Millet Nutritional Value in Hindi

Kodo Millet में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्‍व (Kodo Millet Nutritional Value) कार्बोहाइड्रेट, मैग्‍नीशियम, प्रोटीन, मैगनिज, कैल्शियम, थयामिन, विटामिन, आयरन, फास्‍फोरस, फाइबर तथा रिबोफ्लेविन पाए जाते है।

डॉ खादर वली के अनुसार 100gm कोदो Millet में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व (Nutrient Content in Kodo Millet) इस प्रकार से हैं-

  • नियासिन Niacin (B3) = 2.0mg
  • रिबोफ्लेविन Riboflavin (B2) = 0.09mg
  • थयामिन Thiamine (B1) = 0.33mg
  • केरोटिन Carotene = 0ug
  • आयरन / इस्‍पात Iron = 2.9mg
  • कैल्शियम Calcium = 0.04g
  • फास्‍फोरस Phosphorous = 0.24g
  • प्रोटीन Protein = 6.2g
  • मिनरल / खनिज धातु Mineral = 2.6g
  • कार्बोहाइड्रेट Carbohydrates = 65.6g
  • फाइबर Fibers = 9.0g
  • कार्बोहाइड्रेट फाइबर अनुपात Carbohydrate Fibers Ratio = 7.28

कोदो का उपयोग होने वाले भाग- Beneficial Part of Kodo in Hindi

कोदव का जरूरत और उपयोग के अनुसार आप इन भागों का उपयोग कर सकते हैं।

  • दानें (Grains)
  • बीज
  • पंचांग

Kodo Millet खाने के फायदे – Benefits of Kodo Millet in Hindi

डॉ खादर वली के अनुसार Kodo Millet के खाने के फायदे (Kodo Millet Ke Fayde) इस प्रकार से हैं-

  • Kodo Millet रक्त को शुद्ध करने, प्रतिरोधक में सुधार लाने में मदद करता है।
  • यह मधुमेह और कब्ज को ठीक करने में मदद करता है।
  • कोदो Millet का सेवन अच्छी नींद लाने में मदद करता है।
  • यह अस्थि मज्जा के कुशल कामकाज में और अस्थमा और गुदे की समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद करता है।
  • Kodo Millet प्रोस्टेट, रक्त कैंसर और आंत, थायराइड, गले, अग्नन्याशय या यकृत के कैंसर से संबंधित समस्याओं से छुिकारा पाने के लिए मदद करता है।
  • कोदो में उच्च पौष्टिक मूल्य (Kodo Millet Nutritional Value) होते हैं। इसीलिए यह बच्चों के लिए एक अच्छा भोजन है। इसमें विटामिन और खनीज प्रचुर मात्रा में होते हैं। यह पाचन के लिए अच्छा होता है।

Kodo मिलेट के अन्य स्वास्थ्य लाभ – Other Health Benefits of Kodo Millet

  • कोदो मिलेट में उच्च एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि है। यह रक्त में शकरा और कोलेस्रॉल के स्तर को जांच में रखता है।
  • Kodo Millet स्प्रिंट में भाग लेने वालों को अच्छी ऊर्जा प्रदान करता हैं।
  • यदि आप Kodo Millet को अन्य दाल जैसे बंगाल चना या ग्वारपाठा के साथ लेते हैं तो हमें पयााप्त पोषक तत्व (Kodo Millet Nutritional Value) मिलते हैं जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक हैं।
  • कोदो में उच्च फाइबर होने के कारण यह वजन कम करने के लिए अच्छा होता है।
  • लंबे समय तक बिमारियों से राहत पाने और सूजन को कम करन के लिए यह एक अच्छा भोजन है।
  • Kodo Millet जोड़ों की सूजन, अनियमित पीरियड्स, मधुमेह के रोग और जिन लोगों की आंख की नसें कमजोर हैं, और महिलाओं के लिए अच्छा भोजन है।
  • कोदो के आटा का उपयोग सूंघने पर किया जाता है। यह उन मधुमेह रोगियों के लिए भी सहायक है जो पैरों में निचे चोट लगने के बाद गैंग्रीन विकसित करते हैं।
  • Kodo Millet डेंगू, टायफाइड या वायरल बुखार से पीड़ित और कमजोर हो गए व्यक्तियों के ले लाभकारी हैं।

कोद्रव मिलेट के फायदे और उपयोग – Kodo Millet Benefits and Uses in Hindi

कोदो के औषधीय प्रयोग (kodo millet benefits), की मात्रा एवं विधियां इस प्रकार हैं-

और पढ़े : Little Millet Ke Fayde

रूसी की समस्या में कोदो मिलेट के फायदे – Kodo Millet Benefits in Dandruff in Hindi

कोदो के पंचांग को जलाकर भस्म बना लें। भस्म में जल मिलाकर सिर पर लेप करने से रूसी की समस्या में लाभ होता है।

घेघा रोग में कोदो मिलेट के फायदे – Kodo Rice Benefits to Treat Goiter Disease in Hindi

जलकुम्भी भस्म को गोमूत्र में पीसकर छान लें। इसे कोदो के चावल के साथ खाने से गले की गांठ (घेंघा) रोग ठीक होता है।

और पढ़े : Millets Benefits in Hindi

कोदो मिलेट से सांसों की बीमारी और खांसी का इलाज – Varagu Rice Benefits for Respiratory and Cough Disease in Hindi

कोद्रव के बीजों का भस्म बना कर। 1-2 ग्राम भस्म में शहद मिलाकर सेवन करने से सांसों के रोग और खांसी में लाभ होता है।

पेट के दर्द में कोदो का सेवन से लाभ – Kodo Health Benefits to Treat Abdominal Pain in Hindi

दही के साथ कोदो का चावल (पकाकर) खाने से पेट का दर्द ठीक होता है।

कोदव मिलेट की खीर बनाकर खाने से पेट के दर्द में लाभ होता है।

कोदो मिलेट से बवासीर का इलाज – Kodo Millet Health Benefits for Piles Treatment in Hindi

कोदव का चावल पका ले। पके हुए चावल में जूस या कांजी मिलाकर खाने से बवासीर में लाभ होता है।

और पढ़े : Foxtail Millet Benefits in Hindi

कोदो के सेवन से डायबिटीज पर नियंत्रण – Benefits of Kodo in Controlling Diabetes in Hindi

किसी चिकित्सक के परामर्श के साथ, कोदो मिलेट का सेवन करना डायबिटीज में फायदा पहुंचाता है।

कोदो से लकवा रोग में फायदा – Benefits of Kodrav to Cure Paralysis in Hindi

कोदव के आटा से रोटी को पत्तेदार सब्जियों के साथ सेवन करने से लकवा में लाभ मिलता है।

कोदो मिलेट से साइनस का इलाज – Benefits of Kodrav in Sinus Treatment in Hindi

नियमित रूप से कोदो मिलेट से बने आहार दही के साथ सेवन करने से साइनस में तुरंत लाभ होता है।

फोड़े की परेशानी में कोदो से लाभ – Kodrav Benefits to Treat Boil in Hindi

कोदो को पीसकर फोड़े पर पट्टी की बाधें। इससे फोड़ा पककर फूट जाता है। और आराम मिलता है।

कोदो मिलेट सुन्दर त्वचा के लिए – Kodo Uses to Cure Skin Disease in Hindi

बेसन तथा हल्दी के साथ कोदो के चूर्ण को मिलाकर लगाने से त्वचा की सुन्दरता बढ़ती है।

कोदो से नुकसान – Side Effect of Kodo Millet in Hindi

कोद्रव के इस्तेमाल से ये नुकसान (Kodo millet side effects) भी हो सकते हैंः-

  • Kodo Millet का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से वातदोष और कब्ज की समस्या हो सकती है।
  • कोदो का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से उल्टी तथा बुखार हो सकता है।
  • अत्यधिक मात्रा में सेवन करने बेहोशी, मैनिया आदि के लक्षण (Kodo Millets Side Effects) होने लगते हैं।

निष्‍कर्ष – Conclusion

आशा है इस लेख के माध्‍यम से आप Kodo Millet (कोदो) के फायदें (Kodo Millet Benefits) को अच्‍छी तरह से जान चुके होंगे। यदि यह जानकारी आपको अच्‍छी लगी हो तो कृपया अपनी प्रतिक्रिया Comment Box में जरूर दें। इस जानकारी को अपने मित्रों और परिवार वालों के साथ जरूर Share करें। ताकि उनको भी फायदा मिल सके।

धन्यबाद !

Leave a Comment

Your email address will not be published.