Unmani Mudra कैसे करते है? | उन्मनी मुद्रा के लाभ

दोस्तों आज का लेख उन्मनी मुद्रा (Unmani Mudra) के बारे में है। इस लेख में आप जान पायेंगे कि उन्मनी मुद्रा क्रिया योग करने की विधि एवं लाभ क्या है? तो चलिए शुरू करते है –

उन्मनी मुद्रा – Unmani Mudra in Hindi

उन्मनी-मुद्रा शब्द का अर्थ ‘अन्यमनस्क’ या ‘नहीं सोचना’ होता है। इसका अर्थ ‘निर्विचार वृत्ति’ या ‘ध्यान’ के रूप में भी किया जा सकता है। उन्मनी उस अवस्था की घोतक है जो विचार के परे है, जहाँ विषय जगत की सभी आसक्तियाँ लुप्त हो जाती है। इस अवस्था में मन कार्यशील रहता है और कार्य होती भी है, किन्तु द्वन्द्वात्मक विचारों और विश्लेषण का व्यवधान वहाँ नहीं रहता। यही उन्मनी अवस्था है।

और पढ़े: Bhoochari Mudra कैसे करते है?

उन्मनी मुद्रा करने की विधि – Unmani Mudra Steps in Hindi

  • सबसे पहले ध्यान के किसी आसन जैसे- सुखासन, पद्मासन या वज्रासन में आराम से बैठ जाये।
  • सिद्धासन या सिद्धयोनि आसन में इसे करने से ज्यादा लाभ होता है।
  • अब आँखों को पूरी तरह खोल लें, किन्तु अनावश्यक जोर नहीं लगायें।
  • लम्बी गहरी श्वास लें और उसे भीतर रोकते हुए अपनी सजगता को कुछ क्षणों के लिए सिर के पिछले भाग में बिंदु पर केंद्रित करें।
  • अपनी श्वास को बाहर छोड़ते हुए अपनी सजगता को श्वास के साथ बिंदु से मेरुदण्ड में स्थित चक्रों आज्ञा, विशुद्धि, अनाहत, मणिपुर स्वाधिष्ठान एवं मूलाधार से होते हुए निचे ले जायें।
  • इसी के साथ अपनी आखों को भी धीरे धीरे बन्द करना प्रारम्भ करें।
  • जबतक सजगता मूलाधर में पहुंचे, तक तक आखें पूरी तरह बंद हो जानी चाहिए।
  • जिस समय आँखें खुली रहती है, उस समय भी सजगता अन्दर की ओर ही होनी चाहिए।
  • इस प्रक्रिया को सहज रूप से होने देना है बहुत अधिक प्रयास न करें।
  • उन्मनी मुद्रा का यह एक चक्र पूरा हुआ।
  • अब गहरी श्वास ले और अगला चक्र को प्रारम्भ करें।
  • इसी तरह 5 से 10 मिनटों तक उन्मनी मुद्रा का अभ्यास करते रहे।

और पढ़े: Shanmukhi Mudra कैसे करते है?

उन्मनी मुद्रा की सीमायें – Contra-indications 

इसमें निम्नांकित तथ्यों का ध्यान रखना आवश्यक है –

1- ग्लूकोमा (Glaucoma) से पीड़ित लोगों को इस मुद्रा का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

2- डायबिटिक रेटिनोपैथी वाले या जिनकी अभी-अभी मोतियाबिंद सर्जरी, लेंस इम्प्लांट या अन्य नेत्र ऑपरेशन हुआ है, उन्हें उन्मनी मुद्रा नहीं करनी चाहिए।

3- हमेश उन्मनी मुद्रा को सक्षम शिक्षक के मार्गदर्शन में ही करना चाहिए।

और पढ़े: Khechari mudra कैसे करते है?

उन्मनी मुद्रा के लाभ – Unmani Mudra Benefits in Hindi

  • शारीरिक रूप से यह अभ्यास बहुत सरल है।
  • उन्मनी मुद्रा एक सरल तकनीक है, जो ध्यान की अवस्था में ले जाती है।
  • इसको करने से साधक को उच्च चेतना की स्थिति प्राप्त होती है।
  • यह समान्य परेशानी और उत्तेजना को दूर करती है।

और पढ़े: Bhairava Mudra कैसे करते है?

Leave a Comment