Vitamin C side effects in hindi | विटामिन सी के सेवन से नुकसान

 आज का लेख Vitamin C side effects के बारे में है। वैसे तो Vitamin C के कई फायदे है। लेकिन बहुत कम लोगो को इसके नुकसान Side effects के बारे में पता है। Vitamin C स्वास्थ्य के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण पोषक तत्व है. यह कई फलों और सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। स्वस्थ Immune system को बनाए रखने के लिए विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा में सेवन जरूरी होता है। Vitamin C घाव भरने, हड्डियों की मजबूती और मस्तिष्क के कार्य को बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

लोग Vitamin C की खुराक का सेवन इसलिए भी करते है।  कि उनका मानना है।  कि यह आम सर्दी, ज़ुकाम को रोकने में मदद करता है।  लेकिन विटामिन सी की अत्यधिक मात्रा में सेवन,  कुछ मामलों में अवांछनीय दुष्प्रभाव (Side effect) पैदा कर सकता है। 

पानी में घुलनशील है विटामिन सी – Vitamin C is water soluble

विटामिन दो तरह के होते है. एक जो वसा में घुलनशील होता है।  तो वहीं दूसरा विटामिन पानी में घुलनशील होता है।  Vitamin C पानी में घुलनशील विटामिन है,  जिसका अर्थ है कि यह पानी में घुल जाता है।  पानी में घुलनशील विटामिन शरीर में जमा नहीं होते हैं।  चूंकि शरीर Vitamin C को स्टोर नहीं करता है।  ना ही खुद इसका उत्पादन करता है,  इसलिए रोजाना विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने की जरूरत पड़ती रहती है।

जिस Vitamin C का हम सेवन करते है। वह शरीर के तरल पदार्थों के माध्यम से शरीर के ऊतकों तक पहुँचता है। जो विटामिन सी अतिरिक्त मात्रा में बच जाता है।  वह मूत्र में उत्सर्जित हो जाता है।  हालांकि, उच्च मात्रा में Vitamin C के पूरक के सेवन से दुष्प्रभाव (vitamin c side effects) हो सकते है।  जैसे कि पाचन की समस्या और गुर्दे की पथरीआदि।  Vitamin C पानी में घुलनशील है,  इसलिए यह शरीर में जमा नहीं होता है।  यदि आप इसका आवश्यकता से अधिक सेवन करते हैं,  तो यह आपके मूत्र में उत्सर्जित हो जाता है।

और पढ़े: Vitamin C benefits in hindi | 7 प्रभावशाली विटामिन सी के लाभ

बहुत अधिक विटामिन सी पाचन संबंधी समस्या पैदा कर सकता है – Too much Vitamin C may cause digestive problems

Vitamin C की अधिक मात्रा में सेवन का सबसे आम दुष्प्रभाव (vitamin c side effects) पाचन समस्या है।  लेकिन आपको यह बात समझनी चाहिए कि यह दुष्प्रभाव उन खाद्य पदार्थों को खाने से नहीं होते है। जिनमें विटामिन सी होता है।

बल्कि विटामिन सी को Supplement के रूप में लेने से होता है।  विशेष परिस्थितियों में Vitamin C लेने की अधिकतम सिमा 2000mg/day तक रखी गयी है।  यदि एक बार में 2,000 मिलीग्राम से अधिक का सेवन कोई करता है।  तो उसे पाचन संबंधी समस्या होने की सबसे अधिक संभावना होती है।

Vitamin C का अत्यधिक सेवन से आपको दस्त, Acid reflux और मतली जैसी समस्या का अनुभव हो सकता हैं।  प्रतिदिन 2,000 मिलीग्राम से अधिक विटामिन सी का सेवन करने से Gastrointestinal की समस्या हो सकता है।  जिसमें दस्त और मतली जैसे लक्षण शामिल हैं।  यदि विटामिन सी के सेवन के बाद इस तरह की समस्या नजर आये, तो तुरंत Vitamin C की खुराक को कम या बंद कर देना चाहिए।

और पढ़े: Vitamin C rich foods in hindi | विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी से आयरन की अधिकता हो सकती है – Vitamin C may cause iron overload

विटामिन सी के सेवन से आयरन का अवशोषण Absorption बढ़ जाता है।  जानवरो से प्राप्त उत्पादों में Heme Iron होता है।  वही पौधों से प्राप्त खाद्य पदार्थो में Non Heme Iron पाया जाता है। पौधों से प्राप्त खाद्य पदार्थो में जो Non Heme Iron होता है। वह आसानी से शरीर में अवशोषित नहीं हो पता है। 

जबकि जो जानवरो से प्राप्त उत्पादों में Heme Iron है।  वह बहुत आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है।  इसके लिए Vitamin C की आवश्यकता होती है।  जो लोग Non Heme Iron पे आधारित खाद्य पदार्थो का सेवन करते है।  उनके लिए यह बहुत ही फायदेमंद होता है।  एक अध्यन से यह भी पता चलता है कि यदि कोई व्यक्ति अपने खाने के साथ 100mg Vitamin C सेवन करता है।  तो उसके शरीर में आयरन का अवशोषण Absorption 67% तक बढ़ जाता है। 

और पढ़े: DIP diet for obesity | मोटापे के लिए डी आई पी डाइट

हेमोक्रोमैटोसिस (hemochromatosis) Condition वाले व्यक्ति को विटामिन सी का सेवन बहुत ही सावधानी से करनी चाहिए।  ऐसे में विटामिन सी की अधिक मात्रा में लेने से शरीर में आयरन की अधिकता हो सकती है। जिससे हृदय, यकृत, अग्न्याशय, थायरॉयड और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।  विटामिन सी आयरन के अवशोषण के लिए जरूरी है।  फिर भी इसका अधिक मात्रा में सेवन नुकसान पहुंचा सकता है। 

विटामिन सी गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है – May kidney stones reflect as vitamin c side effects  

Vitamin C की उच्च खुराक गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है।  बहुत अधिक विटामिन सी का सेवन करने से, Oxalate अपशिष्ट के रूप में उत्सर्जित होता है।  अक्सर यह मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है।  लेकिन कुछ परिस्थितियों में यह खनिजों से बंध जाता है।  जिससे क्रिस्टल का निर्माण होने लगता है।  इन्ही क्रिस्टल से गुर्दे की पथरी का निर्माण होता होता है।  कई दिनों तक एक दिन में 2,000 मिलीग्राम से अधिक विटामिन सी लेने वाले लोगों में गुर्दे की विफलता,  गुर्दे की पथरी की संभावना काफी बढ़ सकती है।  इस लिए इसका सेवन तय सिमा तक ही करनी चाहिए।

और पढ़े: डायबिटीज के लिए DIP Diet in Hindi

विटामिन सी कितनी मात्रा में लेनी चाहिए है? – Vitamin c recommended daily allowance

विटामिन सी पानी में घुलनशील विटामिन है। अगर कोई इसका सेवन ज्यादा भी कर लेता है।  तो शरीर कुछ ही घंटो में मूत्र के द्वारा इसे बाहर निकल देता है। जबतक कोई Vitamin C को सप्लीमेंट के माध्यम से ना ले शरीर में इसकी मात्रा का ज्यादा होना मुश्किल है।  Vitamin C से तभी नुकासन पहुँचता है।  जब कोई इसे रोज 2000mg से ज्यादा लेने लगते है। तभी इसके प्रतिकूल प्रभाव, पाचन समस्या और गुर्दे की पथरी सहित अन्य समस्या प्रकट होते है।  Vitamin C पुरुषों के लिए प्रति दिन 90 मिलीग्राम और महिलाओं के लिए प्रति दिन 75 मिलीग्रामनिर्धारित की गयी है।  इससे ज्यादा तभी ले जब कोई विशेष परिस्थिति हो।

और पढ़े: Thyroid Hormone in Hindi, थायराइड के लक्षण व कारण

सारांश

Vitamin C हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है।  इसे हमेसा खाद्य पदार्थो से प्राप्त करने की कोशिस करनी चाहिए।

जो लोग फूड्स सप्लीमेंट के माध्यम से विटामिन सी लेते है. उनमे साइड इफेक्ट का जोखिम अधिक होता है.

इसमें पाचन की समस्या, गुर्दे की पथरी, और शरीर में लोहे तत्व की मात्रा बढ़ने की सम्भवना बढ़ जाती है.

Vitamin C लेने के बाद अगर कोई भी दुष्प्रभाव (Vitamin C side effects) नजर आये।  तो विटामिन सी की खुराक को कम या बंद कर देना चाहिए।

1 thought on “Vitamin C side effects in hindi | विटामिन सी के सेवन से नुकसान”

Leave a Comment

Your email address will not be published.